importance of going to temple

मंदिर जाना ज्यादातर लोग धार्मिक कारण समझते हैं. लेकिन आपको जानकर यह हैरानी होगी कि मंदिर जाने से आपके शरीर कोई कई फायदे भी होते हैं वैज्ञानिक में इस बात की पुष्टि करते हैं कि अगर हम रोज मंदिर जाते हैं तो इससे कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स कंट्रोल की जा सकती हैं. जानिये वह कौन-कौन फायदे हैं जो कि हमें रोज मंदिर जाने से मिलते हैं

स्ट्रेस दूर करने के लिए

मंदिर का शांत माहौल और शंख की आवाज़ मेंटली रिलैक्स करती है. इससे स्ट्रेस दूर होता है.

हाई ब्लडप्रेशर कंट्रोल करने के लिए

नंगे पैर मंदिर जाने से वहां की पॉजिटिव एनर्जी पैरों के जरिए हमारी बॉडी में प्रवेश करती है. नंगे पैर चलने के कारण पैरों में मौजूद प्रेशर प्वाइंट्स पर दवाब भी पड़ता है, जिससे हाई BP की प्रॉब्लम कंट्रोल होती है

कॉन्सेंट्रेशन बढ़ाने के लिए

रोज़ मंदिर जाने और भौहों के बीच माथे पर तिलक लगाने से हमारे ब्रेन के ख़ास हिस्से पर दवाब पड़ता है. इससे कॉन्सेंट्रेशन बढ़ता है.

डिप्रेशन दूर होता है

रोज़ मंदिर जाने और भगवान की आरती गाने से ब्रेन फंक्शन सुधरते हैं. इससे डिप्रेशन दूर होता है.

importance of going to temple

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए

मंदिर में दोनों हाथ जोड़कर पूजा करने से हथेलियों और उंगलियों के उन प्वॉइंटस पर दवाब बढ़ता है, जो बॉडी के कई पार्ट्स से जुड़े होते हैं. इससे बॉडी फंक्शन सुधरते हैं और इम्युनिटी बढ़ती है.

एनर्जी लेवल बढ़ाने के लिए

रिसर्च के अनुसार जब हम मंदिर का घंटा बजाते हैं, तो 7 सेकण्ड्स तक हमारे कानों में उसकी आवाज़ गूंजती है. इस दौरान बॉडी में सुकून पहुंचाने वाले 7 प्वाइंट्स एक्टिव हो जाते हैं. इससे एनर्जी लेवल बढ़ाने में मदद मिलती है.

बैक्टीरिया से बचाव के लिए

मंदिर में मौजूद कपूर और हवन का धुआं बैक्टीरिया ख़त्म करता है. इससे वायरल इंफेक्शन का खतरा टलता है.

loading...