नई दिल्ली: दिल्ली के दिनोंदिन बढ़ते प्रदूषण से दिल्लीवासी परेशान हैं, लेकिन यह दिक्कत सिर्फ यहां ही नहीं बल्कि पुरी दुनिया की है. हाल ही आई एक रिपोर्ट में बताया गया कि दुनिया की करीब 95 फीसदी आबादी खराब हवा में सांस लेती है और प्रदूषण के कारण मौत के मुंह में जाने वाले विश्वभर के कुल लोगों में से करीब आधे भारत और चीन से होते हैं.

रिसर्च में पाया गया कि प्रदूषण से गरीब समुदाय बहुत अधिक प्रभावित होता है. इसके साथ ही सर्वाधिक प्रदूषण और सबसे कम प्रदूषण वाले देशों के बीच अंतर तेजी से बढ़ रहा है.

शहरों में रहने वाले अरबों लोग असुरक्षित हवा में जी रहे हैं जबकि ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोग ठोस ईंधन जलाए जाने के कारण घर के भीतर वायु प्रदूषण का सामना करते हैं.

loading...