बीजेपी के वरिष्ठ नेता और एनडीए सरकार में वित्त और रक्षा मंत्रालय जैसी अहम जिम्मेदारी संभालने वाले यशवंत सिन्हा ने पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी है. यशवंत सिन्हा करीब चार सालों से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कदमों से अपना विरोध जता रहे थे.

यशवंत सिन्हा के पार्टी छोड़ने पर बीजेपी ने कहा है, ‘यशवंत सिन्हा कांग्रेस के कार्यकर्ता की तरह बात करते रहे हैं. लग रहा है कि एक स्वार्थी राजनेता की तरह वह पार्टी के बजाए अपने लिए काम करते रहे हैं. अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने वाले अब कांग्रेस के लिए काम कर रहे हैं.

इससे पहले, यशवंत सिन्हा ने शनिवार को एक कार्यक्रम में कहा कि आज वह बीजेपी की किसी भी तरह की राजनीति से संन्यास लेते हैं और पार्टी के साथ अपने सारे संबंधों को खत्म कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि देश को मौजूदा हालत में पहुंचाने वाले लोगों को वह बर्बाद कर देंगे. यशवंत सिन्हा ने कहा, ‘कुछ लोगों को लगता है कि 2014 में चुनावी राजनीति छोड़ने के बाद मेरी चिंताएं खत्म हो गई थीं, लेकिन मैं बता दूं कि मेरा दिल आज भी देश के लिए धड़कता है. मैं तब तक शांत नहीं बैठूंगा जब तक देश में मुश्किलें हैं.’

loading...