मुम्बई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड और जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद ने अपने भारत विरोधी एजेंडे को आगे बढाने के लिए पाकिस्तानी सिखों के एक समूह से मिलकर उन्हें लुभाने का प्रयास किया. इसके साथ ही उसने हाल में गठित अपने राजनीतिक दल के लिए उनसे आगामी चुनाव में समर्थन मांगा.

सईद ने शुक्रवार को लाहौर से करीब 80 किलोमीटर दूर ननकाना साहिब में जमात उद दावा के कार्यालय में पाकिस्तान सिख गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के महासचिव गोपाल सिंह चावला के नेतृत्व वाले एक सिख समूह से मुलाकात की.

उसने दावा किया, ‘‘सिख बहादुर समुदाय हैं लेकिन भारत में उनके खिलाफ अत्याचार हो रहे हैं.’’ सईद ने कहा कि पाकिस्तान सरकार आवाज नहीं उठा रही है क्योंकि वह भारत से दोस्ती करना चाहती है.

सिख नेताओं के साथ बैठक में सईद के साथ मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) प्रमुख सैफुल्लाह खालिद भी थे. एमएमएल जमात उद दावा का राजनीतिक चेहरा है. गृह मंत्रालय की आपत्ति पर पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने अभी तक इसका पंजीकरण नहीं किया है. बता दें कि पाकिस्तान में आम चुनाव इस साल जुलाई में होने हैं.

loading...