मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो स्वच्छता अभियान चलाया है वह केवल दिखाने या दूसरों को बताने के लिए नहीं है बल्कि खुद को अमल में लाने के लिए है. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल जबलपुर की नानाजी देशमुख विटरनरी यूनिवर्सिटी में डिजिटल लाइब्रेरी का शुभांरभ करने पहुंची थीं. उन्होंने गर्ल्स हॉस्टल का निरीक्षण किया, इसके बाद पंचगव्य निर्माण एवं परीक्षण केंद्र का दौरा किया जहां छात्रों द्वारा पंचगव्य से बनाई गई सामग्री देखी.

इसके बाद राज्यपाल यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में पहुंची जहां डिजिटल लाइब्रेरी का उद्घाटन किया. इस दौरान उन्होंने प्रोफेसर और छात्रों से मुलाकात की और पढ़ाई की जानकारी ली. कार्यक्रम के आखिरी दौर में छात्राओं ने उन्हें स्वच्छता अभियान पर कविता सुनाई एवं नुक्कड़ नाटक दिखाया.

राज्यपाल ने छात्राओं को स्वच्छता अभियान को दैनिक जीवन में उतारने का संदेश दिया, इसके साथ ही उन्हें उन गांवों में दोबारा जाने की सलाह दी जहां वे पहले स्वच्छता अभियान के तहत जा चुकी हैं. राज्यपाल ने छात्राओं का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं को सप्ताह में एक दिन रसोई में खाना बनाना चाहिए और एक दिन पूरे हॉस्टल की सफाई करनी चाहिए जिससे इन कामों को करने वाले कर्मचारियेां को आराम मिल सके और छात्राएं इन कामों में दक्ष हो सकें.

loading...